Loading...

17th May 2012 Part 5 | Haridwar Ashram Ekant | Sant Shri Asaram ji Bapu Satsang

3,627 views

Loading...

Loading...

Loading...

Rating is available when the video has been rented.
This feature is not available right now. Please try again later.
Published on May 20, 2012

Param Pujya Sant Shri Asharam ji Bapu Ekant satsang Haridwar 17th May 2012 Part 5
परम पूज्य संत श्री आशारामजी बापू की अमृतवाणी

सत्संग के मुख्य अंश :

*निवृत्ति महाफलः विषय भोग से निवृत्त हो जाएँ तो महा फल =परमात्मा की प्राप्ति

*व्यसनों से जो बच गया वो बड़ा बहादुर है ।

*लोभ, लालच, काम, क्रोध ये सभी में हैं लेकिन इनसे जो बच निकला उसने अपना काम बना लिया।

* भगवन के रास्ते विफलता नहीं है क्योंकि भगवान शाश्वत हैं तो उस रास्ते चलने का फल भी शाश्वत है।

* बड़ी-बड़ी तपस्या से स्वर्ग मिलता है और पुण्य की कटौती होती है लेकिन भक्त जब चाहे अपनी साधना पूरी कर सकता है और पुण्य क्षीण नहीं होते ।

* रिटायर होंगे तो भजन करेंगे मतलब निकम्मे होंगे तो भजन करेंगे, ईश्वर कोई निकम्मा है क्या जो निकम्मों को मिलेगा।

* जो महत्व ईश्वर प्राप्ति को देता है उसके लिए ईश्वर की सारी सुविधाएँ खुल जाती हैं।

* ईश्वर के तरफ चलते हैं तो सारी ईश्वर की सम्पदाएँ आप से जुड़ जाती है।

* भाव जिस चीज़ से मिल जाता है ,भाव उसे अपने मतलब का बना लेता है।

* जिस भाव से उपयोग करो आत्मदेव उसकी सत्ता देता है।भाव ग्राही जनार्दन:।

To Watch FREE LIVE Webcast on Mangalmay TV Visit :

http://www.ashram.org/live

For More Information Visit :

http://www.ashram.org

Join Ashram on facebook :

https://www.facebook.com/SantShriAsha...

Loading...

Advertisement
When autoplay is enabled, a suggested video will automatically play next.

Up next


to add this to Watch Later

Add to

Loading playlists...